कार्य

 

 

 

 

प्रधान महालेखाकार (सिविल आडिट ) के कार्य
प्रधान महालेखाकार (सिविल आडिट) को निम्नलिखित कार्य सौपे गये है : -
()

सभी सिविल एवम् अभियांत्रिक विभागो, राज्य स्वायत निकायो तथा प्राधिकरणो, केंद्र सरकार के कार्यालयो एवम् राज्य मे स्थित केंद्रीय स्वायत निकायो के व्यय का लेखा परीक्षण |

()

Certification Audit
प्रमाणन लेखा परीक्षा यह कार्यालय निम्नलिखित लेखाओ, परियोजनाओ तथा योजनाओ के प्रामणन लेखा परीक्षा के लिए उत्तरदायी -

 
  उत्तर प्रदेश के वित्त विनियोग लेखे
 

२९ वाहय सहयता प्राप्त परियोजनाओ के व्यय का विवरण 
 

  केंद्रीय आयोज़नगत् तथा विभिन्न राज्य आयोज़नगत्, केन्द् आयोज़नगत् तथा केंद्र द्वारा पुरोनिधानित योजनाओ के लेखे
 
                  केन्द्र एवं राज्य के कुछ मुख्य स्वत्त्त निकाय जो प्रधान म्हालेखाकर (सिविल आडिट ) की लेखा परीक्षा के अंतरगत आते है, इस प्रकार है :-
 
 
बनारस हिन्दी (केंद्रीयविश्व विद्यालयवाराणसी 
अलीगढ मुस्लिम (केंद्रीयविश्व विद्यालयअलीगढ  
जी० एन० झा०  (केंद्रीय)  संस्कृत शोध संस्थान , इलाहाबाद  

         जिला ग्राम्य विकास अभिकरण

         जिला शहरी विकास अभिकरण

राज्य विश्व विधालय
उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद के अधीन इकाइया 
विकास प्राधिकरण 
नगर निगमनगर पालिकाए / नगर पालिकियपरिषादे
खादी एवं ग्राम उद्योग बोर्ड
उत्तरप्रदेश जल निगम एवं संबद्ध इकाइया 
जल संस्थान

(

दक्षता
 तथा निष्पादन लेखा परीक्षा:-

यह कार्यालय राज्य की योजनाओ के साथ ही ऐसी केंद्रीय योजनाओ जो  राज्य मे लागू हो रही हैकी दक्षता तथा निष्पादन लेखा परीक्षा अथवा धन के लिए मूल्य का लेखा परीक्षण (वैल्यू फर मनी ऑडिटकरता है | 
 
( केन्द्र के पुनरीक्षण 
 
( राज्य के पुनरीक्षण 
 
( केंद्रीय लेखापरीक्षा (प्रमाण्को की लेखा परीक्षा )
 

       उप महालेखाकार (स्थानीय निकाय केखापरीक्षा एवं लेखा) के कार्य:-

वरिष्ठ उप महालेखाकार को निम्न लेखा परीक्षा कार्य सौपे गये है-

उ० प्र० राज्य के शहरी स्थानीय निकायो (नगर, निगमो, नगर पालिका परिषदो तथा नगर पंचायत)एवं पंचयती राज संस्थाओ (जिला पंचयती क्षेत्र पंचायतो एवं ग्राम पंचायतो ) की लेखापरीक्षा एवं निरिक्षण की रिपोर्ट तैयार करना |
 

महालेखाकार (वाणिज्यिक एवं प्राप्ति लेखा परीक्षा) के कार्य:-
कार्यालय को निम्न लेखा परीक्षा का कार्य सौपा गया है-
 
()

उत्तरप्रदेश राज्य मे निर्धारित एवं संग्रहित प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष करो द्वारा केन्द्र सरकार की राजस्व प्राप्तिया |

()

उत्तरप्रदेश राज्य की करो एवं कर से अन्य प्राप्तिया

() उत्तरप्रदेश सरकार की सरकार कंपनियो सांविधिक निगमो एवं विभागीय प्रबन्धित उद्यमो की |
प्रधान महालेखाकार (लेखा एवं हकदारी) प्रथम के कार्य: -
प्रधान महालेखाकार (लेखा एवं हकदारी ) प्रथम को निम्नलिखित कार्य सोपे गये है
 
()

ख, ग, घ श्रेणी के क्मचारियो का सवर्ग नियंत्रण, मे कर्मचारी वर्ग का कल्याण, सेवा संघो की मान्यता, मनोरंजन गतिविधियो तथा विभागीय कैन्टीन आदि |
 

()

वार्षिक विनियोग एवं वित्त लेखो को तैयार अरना एवं उनको उत्तरप्रदेश को प्रस्तुत करना |
 

() ७५ कोषागारो से प्राप्त ७३०० से अधिक अहरण एवं वितरण अधिकारियो के प्रमाण को (वाउचरो)/ अनुसूचियो के आधार पर मासिक सिविल लेखा को तैयार करना, उनको सरकार के वित्त विभाग को प्रस्तुत करना |
 
() अठारह विभागो तथा उत्त्तर प्रदेश संवर्ग के अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियो के भविष्य निधि लेखो का रख-रखाव |
 
() विभिन्न प्रकार के दीर्घ कालीन ॠणो एवक़ं अग्रामो के विस्तरत लेखो का रख-रखाव |
 
() विभागाध्याओ के लेखाओ एवं विभिन्न जमा शीर्षो के लेखो जिनका रख-रखाव कोषागारो द्वारा किया जाता है, का मिलन |
 
() आयोज़नागत व्यय की राशियो का मीनल एवं आयोनागत व्यय के विवरण तैयार करना|
 
() भुगतान एवं लेखधिकरी जो नियमित भुगतानो एवं पेंशन देयको की पूर्वा जाँच चेक जारी करने , विभागीय कर्मचारियो के सा०भा०नो० लेखो के रख रखाव, लेखा एवं हक० तथा ऑडिट के चारो कार्यालयो के लेखे का संकलन, पेंशन प्रकारणो के अंतिम रूप देनो (निस्तारण) एवं दीर्घ कलिीन अग्रिमो को ब्रॉडशीट आदि के रख-रखाव के लिए उत्तरदायी है, का क्रियात्मक एवं प्रशासनिक नियंत्रण |
 
() कोषागारो का निरिक्षण |
 
(१०) लेखांकन प्रक्रिया / मौलिक विचारो से संबंधित नीतिगत मामलो मे राज्य सरकार से पत्राचार /विचार विमर्श तथा इस उद्देश्य से बनाई गई उच्च स्तरीय अधिकारियो की समिति मे राज्य सरकारो के प्रतिनिधियो से समय समय पर विचार विमर्श |
 
महालेखाकार (लेखा एवं हकदारी) द्वितीय के कार्य: -
महालेखाकार (लेखा एवं हकदारी ) द्वितीय को निम्नलिखित कार्य सोपे गये है
 
()

स्टांप एवं पंजीयन के अतिरिक्त बिंदु में उल्लेखित, राज्य सरकार के उन विभिन्न विभगो, जिनके कोषागार से संबधित लेखो का संकलन किया जाता है, के कर्मचारियो (चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियो के अतरिक्त ) सा० भ०नि० का रख रखाव |
 

()

विधि एवं न्याय, स्टांप एवं निबंधन, चिकित्सा, शिक्षा एवं प्रशिशाण, एलोपैथी चिकित्सा, आयुर्वादिक एवं यूनानी चिकित्सा, हॉमोपैथिक चिकित्सा, परिवार कल्याण चिकित्सा जन स्वस्थ जल आपूर्ति एवं सफाई , शारी विकास एवं भवन निर्माण, सहकारिता एवं पशुपालन, मृदा एवं जल सरंक्षण, कृषि अनुसंधान शिक्षा, अन्य कृषिकीय कार्यक्रम, ग्रामीण विकास के विशेष कार्यक्रम, भूमि सुधार, कमान चिकित्सा, शिक्षा एवं प्रशिशाण, एलोपैथी चिकित्सा, आयुर्वादिक एवं यूनानी चिकित्सा, हॉमोपैथिक चिकित्सा, परिवार कल्याण चिकित्सा क्षेत्र विकास , चीनी एवं गन्ना विकास पशुपालन, दुग्ध विकास, मत्स्य पालन , लोक निर्माण , सिचाई, वन, उद्यान एवं सहकारी विभगो के कोषागार लेखाओ का संकलन |
 

() लोक निर्माण, सिचाई, लघु सिचाई, भुग जल, ग्राम आ एवं वन विभाग के मासिक लेखो को सामेकित करना तथा उनके वित्त एवं वार्षिक विनियोग लेखो को तैयार करना |
 
() राज्य में लोक निर्माण, सिचाई जल, ग्रामीण सेवा खण्डो में कार्य खंडीय लेखाधिकारी एवं खंडीय लेखाकार का संवर्ग नियंत्रण |
 
() राज्य सरकार के कर्मचारी जो ३०.९.८८ को या उसके पूर्व सेवा सेवानिवृत्त/मृत हुए है उनके पेंशन लाभो को प्राधिकृत करना एवं ऐसे पेंशन प्रकरणो पुनिरीक्षण आदेश जारी करना |
 
() दूसरे प्रदेशो के महालेखकारो से प्राप्त विशेष मुद्रा प्राधिकार पत्र के मध्यम से उत्तरप्रदेश में पेशन भुगतान की व्यवस्था एवं महँगाई राह त आदि से पुनरीशन आदि के सम्बन्ध में कोषाधिकारियो को आदेश जारी करना, इसी प्रकार उत्तर प्रदेश सरकार के पेंशनरो के पेंशन भुगतान की व्यवता हेतु अन्य महालेखाकारो को जारी विशेष मुद्रा प्राधिकार जारी करना तथा समय समय पर महँगाई राहत के पुनरीशण आदेश जारी करना |अन्य राज्यो के महंगाई राहत आदेशो की सूची (जो उ०प० के कोषागारो को निर्गत किए गये है ) निम्न प्रकार से है:-
 
 

क्र्म० सं०

राज्य

देय मंहगाई रहट का प्रतिशत %

 तारीख जिससे प्रभावी है |

म० ले० (ले० एवम् हक  ) द्वितीयउ०प्र० की पत्र सं एवं दिनांक  जिसके द्वारा उ० प्र० के कोषागार को भेजा गया है |

1-

आंध्र प्रदेश

24-492

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@4016 दिनांक  17-08-2007

2-

अरुणचल प्रदेश

29

1-7-06

एस० एम० ए० सेल /@4567 दिनांक  11-09-2007

3-

आसाम

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@4567 दिनांक  11-09-2007

4-

बिहार

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@4567 दिनाक  11-09-2007

5-

कर्नाटक

12-25

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@4567 दिनांक  11-09-2007

6-

मिजोरम

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@4567 दिनांक  11-09-2007

7-

कर्नाटक

50$20

1-4-07

एस० एम० ए० सेल /@4567 दिनांक  11-09-2007

8-

मेघालय 

36

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@4567 दिनांक  17-08-2007

9-

महाराष्ट्रा

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@2292 दिनांक  13-09-2007

10-

केरल

26

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@4016 दिनांक  17-08-2007

11-

नगालै

21

1-7-07

एस० एम० ए० सेल /@2407 f दिनांक  21-09-2007

12-

गोवा

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@2123 दिनांक  20-07-2007

13-

तमिलनाडु 

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@1767 दिनांक  25-06-2007

14-

हरियाणा

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@1767 दिनांक  25-06-2007

15-

पश्चिम बंगाल 

24

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@1767 दिनांक  25-6-2007

16-

उड़ीसा

29

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@2990 दिनांक  08-08-2007 

17-

मध्य प्रदेश 

50$20

1-4-07

एस० एम० ए० सेल /@852 दिनांक  21-05-2007 

18-

राजस्थान 

29

1-12-07

एस० एम० ए० सेल /@852 दिनांक  21-5-2007 

19-

त्रिपुरा 

69

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@852 दिनांक  21-05-2007 

20-

झारखंड

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@4016 दिनांक  17-08-2007 

21-

हिमाचल

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@2990 दिनांक  08-08-2007 

22-

पांडिचेरी

29

1-7-07

एस० एम० ए० सेल /@4714 दिनांक  15-01-2007 

23

मणिपुर

74

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@4714 दिनांक  15-01-2007 

24-

गुजरात

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@2123 दिनांक  20-07-2007 

25-

उत्तराखंड 

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@2123 दिनांक  20-07-2007 

26-

पंजाब

35

1-1-07

एस० एम० ए० सेल /@4929 दिनांक  27-09-2007

 

27-

 

जम्मू एवम् कश्मीर 

21

1-7-07

एस० एम० ए० सेल /@2118 दिनांक  21-7-2007 

28-

fदिल्लीh

-----

-------

--------

 

() राज्य न्यायालयो के नयायाधीशो एवं जाँच आयोग में पुर्ननियुक्त न्ययधीशो के वेतन एवं भत्तो को प्राधिकृत करना |
 
() उत्त्तर प्रदेश शासन के आदेशो के अनुसार ऐसे कर्मचारियो को असाधारण पेंशन प्राधिकृत करना जिनकी मृत्यु असाधारण प्राकृति के कर्तव्य निर्वहन करते समय हुई हो |
 
() उच्च न्यायालय के माननीय न्ययधीशो, खंडीय लेखाधिकारियो एवं राजनैतिक पेंशन भोगियो के पेंशन संबंधी लाभो को प्राधिकृत करना |